सोमवार, अक्तूबर 25, 2010

मेहंदी ने तय कर दी, तेरे प्रीत का रंग कितना गहरा है

करवा चौथ  पर ................

" मेहंदी ने तय कर दी, तेरे प्रीत का रंग कितना गहरा है,
आज मेरी निगाहें बार बार, हथेली पर टिक जाती है. "

हो जाता है इस बात का यकीं देखकर ,
हर सुहागन क्यों मेहंदी के रंग पर इतराती हैं ??

 *************************************

अमर सुहाग का मिले आभा ,मेरे चेहरे के नूर को,
कभी भी ना चाँद मेरा ,मेरे फलक से दूर हो.

एक दिन इंतजार होता है, करवा चौथ के चाँद का ,
पर मेरे चाँद का मुझे , हर दिन इंतज़ार रहता है".

"रजनी मल्होत्रा नैय्यर "

12 comments:

संजय भास्कर ने कहा…

अरे वाह.. बहुत खूब... आपका लेखन शानदार है ...

संजय भास्कर ने कहा…

awesome... piya ko rijhaane kee pooree planning kar lee aapne...
Karwa Choth kee shubhkaamnaye...

संजय भास्कर ने कहा…

Mindblowing creation !

A very innovative way of celebrating 'Karwachauth '

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

करवा चौथ के त्योंहार पर सुंदर पंक्तियाँ साझा की हैं आपने ......
बहुत अच्छा लिखा है ...रजनी जी.... करवा चौथ की शुभकामनायें

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

mere aur se karwachouth ki subhkamnayen, aur badhai.........:)

aapke lekhan ke to fan hain hi:)

रजनी मल्होत्रा नैय्यर ने कहा…

aapsabhi ko mera hardik naman ....karwachauth ki badhai ke liye bhi aabhari hun

वन्दना ने कहा…

आज के दिन की सुन्दर प्रस्तुति……………करवाचौथ की शुभकामनायें।

NK Pandey ने कहा…

वाह रजनी जी हमारे मन की बात लिख दी आपने। आपको करवा चौथ की अनेक शुभकामनाएं।

ALOK KHARE ने कहा…

sundar panktiya, prem se sarabor

रजनी मल्होत्रा नैय्यर ने कहा…

aabhari hun aapsabhi ki.........

SAMEER ने कहा…

rajni ji sehore se sameer hamari phone per baat bhi ho chuki hai ..bahut khub

रजनी मल्होत्रा नैय्यर ने कहा…

ji ha smeer pahchan gayi aapko .....aabhar aapko bhi .....